कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा की हत्या के लिए किया था इतने लाख का सौदा.. 04 गिरफ्तार.. बताई वजह..

Saurabh Bahuguna assassination Conspiracy : उत्तराखंड में कैबिनेट मंत्री की शूटर से हत्या कराने की साजिश का बड़ा पर्दाफाश हुआ है। इस सूचना से पुलिस प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। इसके लिए मंत्री की रेकी भी की गई और शूटरों की पूरी टीम तैयार कर ली गई थी। हत्या कराने के लिए 20 लाख की सुपारी दी गई थी। पुलिस ने साजिश रचने वाले मास्टरमाइंड सहित 04 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

उत्तराखंड के गन्ना विकास एवं पशुपालन मंत्री सौरभ बहुगुणा की हत्या की साजिश बेनकाब हुई है। दरअसल, कोतवाली पुलिस को सौरभ बहुगुणा के प्रतिनिधि उमा शंकर द्विवेदी ने तहरीर दी कि, सितारगंज निवासी हीरा सिंह ने अपने साथी के साथ मिलकर हल्द्वानी जेल में ही कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा की हत्या करने की योजना बनाई है। जिसके बाद पुलिस ने अभियोग पंजीकृत कर जांच शुरू की। इस दौरान टीम को कई अहम सुराग हाथ लगे। जिसके बाद पुलिस ने मास्टरमाइंड सहित चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

गिरफ्तार अभियुक्तों में आरोपी मास्टरमाइंड हीरा सिंह (निवासी कोटा फार्म, सितारगंज), सतनाम सिंह उर्फ सत्ता (निवासी सिरसा फार्म बहेड़ी उत्तर प्रदेश), हरभजन सिंह (निवासी सितारगंज) और मो. अजीज उर्फ गुड्डू (निवासी किच्छा) शामिल हैं। आरोपी हीरा सिंह ने मंत्री की हत्या कराने के लिए 20 लाख की सुपारी दी थी, जिसमें से हीरा सिंह ने 05 लाख 70 हजार रुपए एडवांस भी दिए थे। आरोपियों से पुलिस ने दो लाख सत्तर हजार रुपए और एक स्विफ्ट कार बरामद की है।

डीआईजी सेंथिल अबुदई कृष्णराज डी का कहना है कि, मामले में 04 लोगों को गिरफ्तार किया है। फिलहाल पूछताछ जारी है और जल्द ही डिटेल जानकारी सामने आएगी।

कैबिनेट मंत्री की हत्या की साजिश रचने वाले मास्टरमाइंड हीरा सिंह को सिडकुल क्षेत्र में सरकारी जमीन कब्जाने के आरोप में 13 अप्रैल को हल्द्वानी जेल भेज दिया गया था। पुलिस पूछताछ में हीरा सिंह ने बताया कि, उसे शक था कि उसके मिट्टी का कारोबार और गेहूं चोरी के मामले में उसे जेल भिजवाने के पीछे सौरभ बहुगुणा का हाथ है। जिसके बाद उसने जेल में बंद सतनाम सिंह उर्फ सत्ता के साथ मिल कर हत्या की साजिश रची।

जमानत पर छूटने के बाद हीरा सिंह ने सतनाम के परिचित सितारगंज निवासी हरभजन सिंह ने हीरा सिंह को किच्छा निवासी तांत्रिक मो. अजीज उर्फ गुड्डू से मिलवाया। उसने इन दोनों को सौरभ बहुगुणा की हत्या के लिए 20 लाख की सुपारी दी थी, जिसमे से 5 लाख 70 हजार की रकम एडवांस दी, जिसमें से हीरा सिंह ने चार लाख रुपए ब्याज पर लिए थे।

मंत्री सौरभ बहुगुणा के आवास की रेकी भी की थी। मंत्री ने बताया कि, हीरा सिंह 03 दिन पहले एक स्थानीय जनप्रतिनिधि के साथ आवास पर पहुंचा था, जहां उसने रोजगार के मुद्दे पर बात की और चाय भी थी। इस बीच बहुगुणा के कुछ करीबी लोगों को संदिग्ध गतिविधियों को लेकर संदेह हुआ तो उन्होंने इसकी पड़ताल की। जिसमे मंत्री के हत्या की साजिश रचे जाने की भनक लगी, इसके बाद शनिवार को पुलिस में शिकायत दी।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!