उत्तरकाशी : भव्यता के साथ पारंपरिक ढंग से होगा माघ मेला: बिजल्वाण

उत्तरकाशी : हर साल 14 जनवरी को मकर संक्रांती से आयोजित होने वाले पौराणिक माघ मेला (बाड़ाहाट कू थोलू) की तैयारियां तेज हो गई हैं। जिला पंचायत अध्यक्ष दीपक बिजल्वाण की अध्यक्षता में जिला पंचायत सभागार लदाड़ी में बैठक आयोजित की गई, जिसमें लोगों सुझाव लिए गए।

बैठक में माघ मेले को भव्य रूप से मनाए जाने को लेकर प्रबुद्ध नागरिक जनों एवं जनप्रतिनिधियों कई महत्वपूर्ण सुझाव दिए। माघ मेले में सुरक्षा व्यवस्था, ट्रैफिक, सांस्कृतिक धरोहर, स्वच्छता एवं स्वरोजगार जैसे अनेक बिंदुओं पर सुझाव दिए गए। मेले को भव्य एवं दिव्य रूप देने के लिए स्थानीय उत्पादकों को बढ़ावा देने हेतु महिला स्वयं सहायता समूहों को प्राथमिकता देने पर जोर दिया गया।

सम्पूर्ण माघ मेले के दौरान और मकर संक्रांति पर्व के अवसर पर स्नान घाटों पर स्वच्छता व सुरक्षा व्यवस्था को चाकचौबंद रखने के साथ ही घाटों पर लाइटिंग करने पर भी निर्णय लिया गया है। माघ मेले के सफल आयोजन के लिए जिले के गंगा व यमुना घाटी से स्थानीय देवडोलियों को आमन्त्रित किया जाएगा। साथ ही बाड़ाहाट कु थोलू के धार्मिक, पौराणिक महत्व को बरकरार रखते हुए देश, प्रदेश और जनपद स्तरीय कलाकारों को मंच दिए जाने विषय पर भी चर्चा की गई।

जिला पंचायत अध्यक्ष दीपक बिजल्वाण ने कहा कि पौराणिक माघ मेले को भव्य रूप से मनाया जाएगा। नगर पालिका के साथ समन्वय स्थापित कर मेले को औऱ भव्य रूप दिया जाएगा। उन्होंने नगर पालिका से मेले के दौरान समस्याओं को हल करने हेतु सहयोग मांगा।

उन्होंने कहा कि माघ मेले का मुख्य आकर्षक राष्ट्रीय स्तर के कलाकार के साथ-साथ स्थानीय प्रतिभाओं को भी बढ़ावा दिया जाएगा। मेले के आकर्षक चरखी, मौत का कुंआ के साथ ही सरकारी विभागों के स्टाल लगाये जायेंगे।

जिला पंचायत अध्यक्ष  बिजल्वाण ने बताया कि माघ मेला का स्वरूप पौराणिक धार्मिक बरकरार रहेगा। मेला का उद्घाटन हरि महाराज का ढोल, कंडार देवता के सानिध्य में होगा। डोली स्वागत समिति, कलश यात्रा समिति, जल विद्युत, प्रेस (मीडिया) समिति, क्रीड़ा समित, सांस्कृतिक आदि समितियों का भी गठन किया गया है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!