उत्तराखंड: मंत्री कर रहे डिजिटल एजुकेशन के दावे, श्रीदेवसुमन विश्वविद्यालय ने दो माह से बंद कर रखी वेबसाइट


उत्तराखंड: मंत्री कर रहे डिजिटल एजुकेशन के दावे, श्रीदेवसुमन विश्वविद्यालय ने दो माह से बंद कर रखी वेबसाइट





                           
                       

EXCLUSIVE

देहरादून: वर्तमान युग डिजिटल युग है। लगभग सभी काम डिजिटल प्लेटफॉर्म पर होने लगे हैं। पढ़ाई भी डिजिटल होने लगी है।कोरोना काल में ऑनलाइन क्लासों के जरिए स्कूल के बच्चों से लेकर डिग्री कॉलेजों के छात्रों तक को ऑनलाइन क्लासेस पढ़ाई गई। इन दिनों कॉलेजों में एडमिशन चल रहे हैं। सभी कॉलेजों में यह प्रक्रिया ऑनलाइन की जा रही है।

लेकिन, एक विश्वविद्यालय ऐसा भी है, जिसकी वेबसाइट पिछले 2 माह से बंद पड़ी हुई है। विश्वविद्यालय ने ऐसा गजब कारनामा किया, जिसके बारे में जानकर आप भी चौंक जाएंगे।

श्रीदेवसुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय के कुलसचिव और कुलपति विभिन्न सार्वजनिक मंचों पर अपनी सेखियां बघार कर विश्वविद्यालय का कायाकल्प करने का दावा करते हैं। लेकिन, हकिकत यह है कि विश्वविद्यालय की वेबसाइट पिछले दो माह से बंद पड़ी हुई है।

इस वक्त पीक टाइम चल रहा है। एडमिशन के दौर में विश्वविद्यालय वेबसाइट की वेबसाइट का बंद होना गंभीर लापरवाही है। वेबसाइट के जरिए ही सारी जानकारी स्टूडेंट्स को मिलती है। यूनिवर्सिटी डिजिटल दौर में वेबसाइट को दो माह से बंद कर बैठा है। रिजल्ट, टेंडर, विवि की शैक्षणिक गतिविधियों की जानकारी भी नहीं मिल पा रही है।

यूनिवर्सिटी ने जिस तरह से सबसे महत्वपूर्ण वेबसाइट को बंद किया हुआ है। इससे किसी बहुत बड़े घोटाले की आशंका भी जताई जा रही है। आजकल विवि की और से रिजल्ट खोलने के लिए एक काम चलाऊ व्यवस्था कर रखी है।

पहले जहां विवि की वेबसाइट sdsuv.ac.in थी लेकिन विवि का कारनामा देखो कि एक अलग ही लो क्वालिटी का पेज शुरू कर दिया गया है, जो किसी घोटाले की ओर इशारा कर रहा है।

एक तरफ उच्च शिक्षा मंत्री डिजिटल एडुकेशम की बात कर रहे हैं वहीं ये विश्वविद्यालय आदिम युग की ओर जा रहा है।

आजकल एडमिशन चल रहे है। ऐसे में विश्वविद्यालय के कुलसचिव और अन्य कर्मचारियों पर गंभीर सवाल खड़े हो रहे हैं। सवाल यह है कि क्या शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत इस पर कोई एक्शन लेंगे या नहीं?

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!