उत्तराखंड: फिलहाल नहीं टूटेगा हाकम का रिसॉर्ट, SP के नाम से फर्जी आदेश वायरल, CO करेंगे जांच

उत्तरकाशी : UKSSSC के स्नातक स्तरीय परीक्षा पेपर लीक मामले में प्रमुख आरोपित पूर्व भाजपा नेता व जिपं सदस्य हाकम सिंह रावत के सांकरी मोरी स्थित रिसॉर्ट पर आज बुल्डोजर चलने की खबरें सुबह से ही चल रही हैं। इस मामले में अब बड़ा खुलासा हुआ है।

हाकम सिंह रावत के जिस रिसॉर्ट को तोड़ने के लिए आदेश की कॉपी वायरल हो रही है। उस आदेश में उत्तरकाशी SP अपर्ण यदुवंशी ने साइन ही नहीं किए हैं। उनका कहना है कि वह लेटर किसी ने गलत तरीके से वायरल किया है।

उन्होंने कहा कि उसमें जो हस्ताक्षर हैं, वह उनके नहीं हैं। मामले की जांच CO को सौंप दी गई है। जहां तक रिसॉर्ट को ध्वस्त करने का सवाल है। उस पर अंतिम फैसला शासन के निर्देशानुसार जिला अधिकारी को लेना है।

यह रिसॉर्ट में पूर्व सीएम समेत डीजीपी और कई दूसरे VIP का  भी आना-जाना रहा। यहां पर पत्रकारों के टूर भी जाते रहे हैं। सोशल मीडिया में इनकी तस्वीरें UKSSSC मामले में हाकम की गिरफ्तारी के बाद खूब वायरल हुई थीं।

अपर जिला अधिकारी तीर्थपाल सिंह और गोविंद वन्यजीव विहार राष्ट्रीय पार्क के उप निदेशक डीपी बलूनी मौजूद रहेगा। पुलिस अधीक्षक उत्तरकाशी की ओर से मोरी थाने की पुलिस को सांकरी में तैनाती निर्देश दिए गए हैं।

गोविंद वन्यजीव विहार राष्ट्रीय पार्क की टीम को भी मौके पर तैनाती के निर्देश है। हाकम सिंह रावत का रिसार्ट सांकरी गांव के पास राजस्व व पार्क की भूमि पर बना हुआ है।

हाकम सिंह रावत को सांकरी स्थित रिसार्ट काफी चर्चाओं में भी रहा। बताया जाता है कि हाकम सिंह रावत ने सत्ता से निकटता के चलते राजस्व व पार्क की भूमि पर अवैध रूप से आलीशान रिसार्ट बनाया।

उत्तराखंड अधीनस्त सेवा चयन आयोग की स्नातक स्तरीय परीक्षा में नकल और पेपर लीक के मामले में सलाखों के पीछे कैद जिला पंचायत सदस्य और पूर्व भाजपा नेता हाकम सिंह रावत अकूत संपत्ति का मालिक है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!